सोनीपतद्ध 44वें वार्षिकोत्सव -03.11.2018

November 04, 2018
चण्डीगढ़ 3 नवम्बर ।  प्रदेश में राज्य सरकार द्वारा आधुनिक खेलों के साथ.साथ पारंपरिक खेलों को भी बढ़ावा दिया गया है जिससे हरियाणा का नाम दुनिया के मानचित्र पर उभरा है। यह बात हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने शनिवार को मोतीलाल नेहरू खेलकूद विद्यालयए राई ;सोनीपतद्ध 44वें वार्षिकोत्सव में बोलते हुए कही। इस अवसर पर उन्होंने विभिन्न प्रतियोगिताओं में अव्वल रहे छात्रों को सम्मानित किया। 

उन्होंने कहा कि हरियाणा में गुणवत्ता की शिक्षा के साथ.साथ खेलों का वातावरण भी कायम हुआ है जिसकी वजह से प्रदेश के युवाओं ने खेलों को करियर के रूप में अपनाया है। प्रत्यक्ष को प्रमाण की आवश्यकता नहीए पिछले दिनो जर्काता ;इंडोनेशियाद्ध में आयोजित एशियन खेलों में देश के लिए जीते गए कुल पदकों में से हरियाणा के खिलाडियों ने 25 प्रतिशत यानि 17 पदक जीतकर प्रदेश का नाम रोशन किया। 

उन्होंने कहा कि हरियाणा राज्य शिक्षा के साथ.साथ कृषिए पशुधनए ऑटोमोबाइल इंडस्ट्रीज व भारतीय सेना में योगदान  में भी देशभर में प्रथम स्थान पर है। देश के कुल भू.भाग का  2 प्रतिशत वाले हरियाणा प्रदेश का भारतीय सेना में 10 प्रतिशत से भी अधिक योगदान है जिससे हरियाणावासियों का गर्व से माथा ऊंचा हो जाता है। प्रदेश में बेटी बचाओ.बेटी पढ़ाओ अभियान को आगे बढ़ाया है और अब प्रदेश की बेटियां खेलों के साथ.साथ सेना में भी देश की सेवा कर रही हैं। 

श्री आर्य ने कहा कि भौतिकता के इस युग में आज के युवा को संस्कारवान बनाना निहायत जरूरी है इसके लिए शिक्षण संस्थाओं व शिक्षकगणों को और अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को नैतिकता का पाठ पढाना चाहिए ताकि यह युवा वर्ग माता.पिताए गुरूजनए जन्म.भूमिए मातृभाषा एवं भारतीय संस्कृति का आदर करें और देश को फिर से विश्वगुरू का दर्जा प्राप्त हो। 

उन्होंने कहा कि खेलों से व्यक्ति का सर्वांगीण विकास होता है। इसलिए युवाओं के लिए खेल अति महत्वपूर्ण है। कहा भी गया है कि साउंड माइंड इन साउंड बॉडी। व्यक्ति का शरीर स्वस्थ होगा तो मस्तिष्क भी स्वस्थ होगा। खेल को जीवन में अपनाने से युवा शिक्षा तो बेहतर स्तर की ग्रहण करेंगे हीए साथ ही नैतिकता का भी ज्ञान होगा। उन्होंने विद्यार्थियों से अपील की कि वे माता.पिताए मातृभूमिए राष्ट्रभाषा की सेवा के लिए कार्य करें। तभी वे जीवन में आगे बढ़ेंगे और हर प्रकार की चुनौतियों का सामना कर पाएंगे। 

उन्होंने शिक्षा और खेलों के विकास के लिए मोती लाल खेलकूद विद्यालय के शिक्षकों की पीठ थप.थपाते हुए कहा कि इस विद्यालय ने नामि खिलाड़ीए शिक्षाविद व जनसेवा के क्षेत्र में अनेक विभागों को उच्च अधिकारी दिये है जिससे विद्यालय का नाम देश के चुनिंदा विद्यालयों में शामिल हुआ है।  

समारोह के विशिष्ठ अतिथि हरियाणा के खेल एवं युवा कल्याण मंत्री अनिल विज ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा देश में सर्वश्रेष्ठ खेल नीति तैयार की गई हैए जिसकी वजह से युवाओं ने खेलों को कैरियर के रूप में अपनाया है। ख्ेाल  नीति के तहत खिलाडिय़ों को नकद ईनाम के साथ.साथ रोजगार भी मुहैया करवाया जाता है। यहां तक कि ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक लाने वाले खिलाडिय़ों को छह करोड़ रुपये की राशि और आठ वर्ष की वरीयता के साथ.साथ एचसीएसध्एचपीएस तक की नौकरी दी जा रही है। खिलाडिय़ों को नौकरी पाने के लिए फार्म तक न अप्लाई करना पड़ेए इसलिए ऑनलाईन एप्लिकेशन की सुविधा भी उपलब्ध करवाई गई है। अब तक विभिन्न स्तर के 118 खिलाडिय़ों ने ऑनलाईन आवेदन किया हैए जिनमें से 50 खिलाडिय़ों को नौकरी देने के मामले प्रक्रियाधीन हैं। 

उन्होंने कहा कि प्रदेश में ख्ेालों के  क्षेत्र में विश्व स्तरीय सुविधाएं जुटाई जा रही हैं। प्रदेश के प्रत्येक जिले में लडक़े.लड़कियों की दस.दस नर्सरियां स्थापित की जा रही हैं। खेलों के साथ.साथ योगए संस्कृति और संस्कारों को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश में योग व्यायामशालाएं स्थापित की जा रही हैं। अब तक 437 गांवों में योग व्यायामशालाएं स्थापित की जा चुकी हैं। प्रत्येक जिला में 30.30 करोड़ की लागत से मल्टीपर्पज इंडोर हॉल का भी निर्माण करवाया जा रहा है। 

श्री विज ने कहा कि प्रदेश में खेलों के विकास में मोतीलाल नेहरू खेलकूद विद्यालय का नाम अग्रणी रहा है। इस विद्यालय ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाडिय़ों के साथ.साथ  सेना व विभिन्न विभागों में बड़े अधिकारी भी दिए हैं। उन्हें गर्व है कि वर्तमान में यह विद्यालय खेलों का बड़ा केंद्र बन चुका है। विद्यालय में विश्व स्तर की खेल सुविधाएं हैं और अब सरकार द्वारा सात करोड़ रुपये की लागत से विश्व स्तरीय शूटिंग  रेंज का भी स्थापित की जा रही है। उन्होंने विद्यालय परिवार के शिक्षकों और छात्रों को वार्षिकोत्सव की बधाई दी और उज्ज्वल भविष्य की कामना की। 

इस दौरान खेल एवं युवा कल्याण विभाग के प्रधान सचिव अशोक खेमका ने विभागीय गतिविधियों पर प्रकाश डाला और राज्यपाल श्री सत्यदेव आर्य का स्वागत किया। इसी प्रकार से विद्यालय के निदेशक एवं पिं्रसीपल कर्नल राज सिंह बिश्रोई ने स्कूल की गतिविधियों के बारे में बताया और अतिथियों का स्वागत किया। वार्षिकोत्सव समारोह में स्कूली छात्र.छात्राओं ने घुड़सवारीए जिमनास्टिक तथा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की मनोहारी प्रस्तुति के साथ.साथ विभिन्न प्रकार के साहसिक कार्यक्रमों का प्रदर्शन कर उपस्थित लोगों को आकर्षित किया। 

इस अवसर पर राष्ट्रीय परिषद राज्य कृषि विपणन बोर्ड की चेयरपर्सन एवं पूर्व मंत्री कृष्णा गहलावतए एसडीएम प्रशांत पवारए एसडीएम सुरेंद्रपालए विद्यालय की वाइस.प्र्रिंसीपल मौसमी घोशालए नंदकिशोर चैहानए मनिंद्र सन्नीए प्रदीप पालीवाल आदि गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।

Image removed.