समाज एवं राष्ट्र में एकता की भावना खेल द्वारा प्रशस्त होती है-राज्यपाल 28.05.2018

May 28, 2018

रोहतक, 28 मई।      समाज एवं राष्ट्र में एकता की भावना खेल द्वारा प्रशस्त होती है। खेल गतिविधियों में प्रतिभागिता से न केवल व्यक्तित्व का सर्वांगिण विकास होता है, बल्कि मनुष्य में अपने विश्वविद्यालय, प्रदेश एवं राष्ट्र के प्रति एकात्मकता सृजित होती है। हरियाणा के राज्यपाल एवं महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के कुलाधिपति प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने आज ये उद्गार महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के वार्षिक खेल एवं सांस्कृतिक पुरस्कार वितरण समारोह में बतौर मुख्य अतिथि व्यक्त किए। 
        राज्यपाल-कुलाधिपति प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय को खेल नर्सरी बताते हुए कहा कि इस विश्वविद्यालय ने पूरे राष्ट्र में अपनी खेल उपलब्धियों से दमदार उपस्थिति दर्ज करवाई है। उन्होंने खेल उपलब्धियों के लिए महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय की जयकार की, तथा खिलाडिय़ों, प्रशिक्षकों एवं अधिकारियों को हार्दिक बधाई दी। 
        राज्यपाल-कुलाधिपति प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने भी कहा था कि भगवत् गीता का ज्ञान खेल के मैदान से ज्यादा प्रभावी ढंग से प्राप्त हो सकता है। उन्होंने कहा कि एक भारत, श्रेष्ठ भारत तथा एक हरियाणा-हरियाणवी एक का नारा भी खेल गतिविधियों में प्रतिभागिता से संपूर्ण होगा। 
        प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने सांस्कृतिक उपलब्धियों के लिए पुरस्कार प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को बधाई देते हुए कहा कि सांस्कृतिक-साहित्यिक गतिविधियों में भाग लेने से व्यक्तित्व का भावनात्मक विकास होता है।
    राज्यपाल-कुलाधिपति प्रो सोलंकी ने खेल उपलब्धियों तथा सांस्कृतिक उपलब्धियों के लिए विजयी टीमों तथा खिलाडियों-विद्यार्थियों को पुरस्कार प्रदान किए।
    हरियाणा के सहाकारिता, मुद्रण एवं लेखन तथा शहरी निकाय राज्य मंत्री मनीष ग्रोवर ने इस समारोह में अपने संबोधन में कहा कि हरियाणा सरकार खेल गतिविधियों को बढावा देने के लिए संकल्पबद्ध है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने गतिशील खेल नीति बनाई है जिसके कारण प्रदेश में खिलाडियों को बेहतर प्रदर्शन करने के लिए प्रोत्साहन मिला है। उन्होंने मदवि को खेल उपलब्धियों के लिए बधाई दी।
    इससे पूर्व, पारंपरिक दीप प्रज्वलन से कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। मदवि के कुलपति प्रो बिजेन्द्र कुमार पुनिया ने स्वागत भाषण दिया। प्रो पुनिया ने विश्वविद्यालय के खेल क्षेत्र की उपलब्धियों तथा मदवि की प्रगति यात्रा का विस्तृत ब्यौरा दिया। उन्होंने कहा कि मदवि उच्च शिक्षा एवं शोध, खेल, सांस्कृतिक-साहित्यिक गतिविधि, सोशल आउटरिच में नए आयाम स्थापित करने की ओर अग्रसर है। कार्यक्रम में बेहतरीन मंच संचालन निदेशक युवा कल्याण जगबीर राठी ने किया। आभार प्रदर्शन रजिस्ट्रार जितेन्द्र भारद्वाज ने किया ।
    इस अवसर पर डीन, स्टूडेंट वेल्फे यर प्रो राजकुमार, मदवि खेल बोर्ड अध्यक्षा डा कृष्णा चौधरी, राज्यपाल के एडीसी स्कैवड्रन लीडर सौरभ यादव, एनसीसी ग्रुप कमांडर ब्रिगेडियर बी एस दलाल, पं भगवत दयाल स्वास्थ्य विवि, रोहतक के कुलपति प्रो ओ पी कालरा, सुपवा के कुलपति प्रो राजबीर सिंह, उपायुक्त डा यश गर्ग, एडीसी रोहतक अजय कुमार, पुलिस अधीक्षक जश्नदीप सिंह रंधावा, विश्वविद्यालय के खेल निदेशक डा डी एस ढुल तथा विश्वविद्यालय के अधिकारगण उपस्थित रहे।

रोहतक, 28 मई।      महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय (मदवि) के वार्षिक खेल एवं सांस्कृतिक पुरस्कार वितरण समारोह में आज पुरूष वर्ग की ओवरआल ट्राफी जाट महाविद्यालय रोहतक को तथा महिला वर्ग की ओवर आल ट्राफी महारानी किशोरी जाट कन्या महाविद्यालय रोहतक को प्राप्त हुई।
    सांस्कृतिक गतिविधियों में ओवर आल ट्राफी डी ए वी शताब्दी महाविद्यालय फरीदाबाद को प्राप्त हुई। रनर्स अप ट्राफी जीवीएम गल्र्ज कालेज, सोनीपत को प्राप्त हुई।
    हरियाणा के राज्यपाल एवं मदवि के कुलाधिपति प्रो कप्तान सिंह सोलंकी ने इन विजयी टीमों को ट्राफियां प्रदान की। हरियाणा के सहकारिता राज्य मंत्री मनीष कुमार ग्रोवर, कुलपति प्रो बी के पुनिया, डीएसडब्लू प्रो राजकुमार, निदेशक खेल डा डी एस ढुल, एमडीयू खेल बोर्ड की अध्यक्षा डा कृष्णा चौधरी, निदेशक युवा कल्याण डा जगबीर राठी इस अवसर पर उपस्थित रहे।
    कुलाधिपति प्रो सोलंकी ने मदवि की खेल उपलब्धियों के लिए कुलपति प्रो-पुनिया, खेल बोर्ड अध्यक्षा डा कृष्णा चौधरी, तथा निदेशक खेल डा डी एस ढुल को सम्मानित किया।

2805201828052018

28052018

28052018