राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने कहा कि देश व समाज के उत्थान के लिए सभी लोगों को साथ मिलकर आगे बढऩा होगा-20.01.19

January 24, 2019

चण्डीगढ़ 20, जनवरी हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने कहा कि देश व समाज के उत्थान के लिए सभी लोगों को साथ मिलकर आगे बढऩा होगा। युवा इस देश की ताकत हैंए इसलिए युवाओं को रचनात्मक गतिधियों के साथ देश के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान देना होगा। सरकार का सबका साथ.सबका विकासए स्वच्छ भारत.स्वस्थ भारत तथा बेटी बचाओ.बेटी पढ़ाओ जैसे जागरुकता अभियान भी देश को आगे बढ़ाने में कारगर साबित हो रहे हैं।
        राज्यपाल ने यह विचार होडल उपमंडल के गांव रामगढ़ में आयोजित अभिनंदन समारोह के दौरान उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि आज भारत देश व हरियाणा प्रदेश विकास की नई राह की ओर अग्रसर हैं। प्रदेश में 42 विश्वविद्यालय हैंए जिससे स्पष्टड्ढ है कि शिक्षा के क्षेत्र में हरियाणा में अभूतपूर्व काम हुआ है। हरियाणा पढ़ाई के साथ.साथ खेलोंए ऑटोमोबाईल जैसे क्षेत्रों में भी तेजी से आगे बढ़ रहा है। हरियाणा की लड़कियां हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं। उन्होंने युवाओं का आह्वड्ढान किया कि वे सामाजिक कुरीतियों को मिटाते हुए समाज उत्थान में अपना महत्वपूर्ण योगदान देंए साथ ही नशे जैसी प्रवृति से भी बचकर रहें। उन्होंने कहा कि स्वामी दयानंद सरस्वती ने देश में शिक्षा के महत्व का व्यापक प्रचार.प्रसार कियाए जिसके कारण उस समय भारत के लोगों में शिक्षा के प्रति काफी जागृति आई और उनकी शिक्षाओं से समाज में परिवर्तन की लहर चली।
        राज्यपाल ने कहा कि भारत में संत रविदासए संत कबीरदास व महर्षि वाल्मीकि जैसे महान पुरूष हुएए जिन्होंने समाज को नई विचारधारा से जोड़ते हुए सामाजिक एकता के साथ आगे बढऩे के लिए प्रेरित किया। इन संतों ने देश के लोगों की मन व मानसिकता में बदलाव की अलख जगाई। उन्होंने देश के लोगों को संगठित होकर आगे बढऩे व सामाजिक कुरीतियों को खत्म करने का भी आह्वड्ढान किया। देश में फैली छुआछात जैसी समस्या का उन्होंने कड़ा विरोध कियाए जिसके कारण गरीब व दबे.कुचले लोगों को आगे बढऩे के अवसर मिले। उनकी प्रेरणाओं से ही देश में सामाजिक विकृतियां खत्म हुई। उन्होंने कहा कि संविधान के रचेयता डाण् भीमराव अंबेडकर ने देश को विश्व का बेहतरीन संविधान दियाए जिसमें गरीब लोगों को आगे बढऩे के अपार अवसर प्रदान किए। साथ ही उन्होंने सब लोगों को शिक्षित बननेए संगठित रहने व संघर्ष करने की भी प्रेरणा दी। उन जैसे विद्वान व्यक्ति में ही जातियोंए धर्मोंए भाषाओं व खान.पान की विभिन्न्ताओं के वाबजूद सभी लोगों को साथ लेकर आगे बढऩे की खासियत थी। उन्होंने इस अवसर पर ग्रामीणों द्वारा रखी मांगों को पूरा करवाने तथा 20 लाख रुपये गांव के विकास व 10 ला ा रुपये आर्य कन्या गुरुकुल हसनपुर को देने की भी घोषणा की।
        सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय में सदस्य व कार्यक्रम के संयोजक सूरजभान कटारिया ने कहा कि रामगढ़ में आयोजित इस अभिनंदन समारोह से निःसंदेह सामाजिक समरसता के संदेश को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि राज्यपाल ग्रामीण क्षेत्र से संबद्ध हैंए इसलिए इनकी इच्छा थी कि उनका अभिनंदन भी गांव में किया जाए। उन्होंने कहा कि श्री आर्य आठ बार बिहार राज्य में विधायक बने और मंत्री भी रहेए लेकिन इनका जीवन सादगी भरा रहा है। उन्होंने कहा कि अब समय है कि देश के लोगों को मिलजुल कर देश के उत्थान में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया जाए तथा सामाजिक समरसता के बल पर ही देश का विकास संभव है। होडल के विधायक उदयभान ने भी कार्यक्रम में अपने विचार रखे।
        इस अवसर पर उपायुक्त डाण् मनीराम शर्मा ने अभिनंदन समारोह में आए सभी अतिथियों का धन्यवाद करते हुए कहा कि राज्यपाल के विचारों से इस क्षेत्र को लोगों को नई शिक्षा मिली है। सामाजिक समरसता के उद्देश्य से आयोजित इस समारोह से लोगों को मिलकर कार्य करने व आगे बढऩे की प्रेरणा मिली है। इस अवसर पर हरियाणा पशुधन विकास बोर्ड के उपाध्यक्ष महरचंद गहलौतए जिला पार्षद आशावतीए गांव के सरपंच हुकम सिंह सहित क्षेत्र के अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।