राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य रविवार को अपने निवास स्थान पर संविधान निर्माता बाबा साहेब डा0 भीमराव अम्बेडकर के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि देते हुए-06.012.2020

December 08, 2020

चंडीगढ़, 06 दिसम्बर - हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने संविधान निर्माता, महान समाज सुधारक, भारतरत्न बाबा साहेब डा0 भीमराव अंबेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर अपने निवास स्थान पर ही सरकार द्वारा निर्धारित कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए बाबा साहेब के चित्र पर पुष्प अर्पित कर नमन किया और भावभीनी श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर एक विधिवेता, अर्थशास्त्री, राजनीतिज्ञ व समाज सुधारक थे, जिन्होंने दलित समाज, मजदूर वर्ग और महिलाओं के प्रति सामाजिक भेदभाव के खिलाफ आवाज उठाई और अभियान चलाए। उन्होंने कहा कि राष्ट्रधर्म के ध्वजारोही डा0 भीम राव अम्बेडकर ने सदैव भगवान बुद्ध और गुरू नानक देव जी के सिद्धान्तों को अपने जीवन में आत्मसात कर राष्ट्र और समाज को सुदृढ़ बनाने के लिए काम किया।   
श्री आर्य ने कहा कि देश की स्वतंत्रता के पश्चात् संविधान बनाने की जिम्मेवारी डा0 भीमराव अंबेडकर को दी गई। उन्होंने निरंतर 21-21 घंटे मेहनत कर लगभग तीन वर्ष में संविधान की रचना की। भारत में 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू किया गया और देश गणतंत्र बना। उन्होंने देश को विस्तृत संविधान दिया। यही संविधान देश का मार्गदर्शन कर रहा है। 
उन्होंने कहा कि बाबा साहेब डा0 भीमराव अंबेडकर कर्म, संघर्ष और विश्वास की त्रिमूर्ति थे। उन्होंने विकट परिस्थितियों में जीवन व्यतीत कर उच्च शिक्षा ग्रहण की और विश्व के महान विद्वान कहलाए। आज प्रत्येक व्यक्ति को संविधान निर्माता डा0 भीमराव अंबेडकर के जीवन से सीख लेने की आवश्यकता है। उनके सिद्धान्त के अनुसार शिक्षित बनकर, संगठित होकर और संघर्ष करके ही देश व समाज को आगे बढ़ाया जा सकता है। राष्ट्र के प्रति उनका योगदान बहुमूल्य और उल्लेखनीय है। 
राज्यपाल श्री आर्य ने कहा कि बाबा साहेब ने संविधान में समतामूलक समाज की व्यवस्था की, जिससे सबको आगेे बढ़ने का अवसर मिला। उन्हांेने गरीब, दलितों और पिछड़ों के लिए सरकारी नौकरियों में और राजनैतिक व्यवस्था में आरक्षण का प्रावधान किया। संविधान में आरक्षण की व्यवस्था से ही गरीब वर्ग के लोगों के जीवन में नई रोशनी आई है। उन्होंने कहा कि 06 दिसम्बर 1956 को बाबा साहेब ने अंतिम सांस ली। आज राष्ट्र के नव-निर्माण में योगदान के लिए पूरा देश बाबा साहेब को याद कर रहा है। 
कैप्शनः- हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य रविवार को अपने निवास स्थान पर संविधान निर्माता बाबा साहेब डा0 भीमराव अम्बेडकर के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि देते हुए।