विज्ञान की तरक्की के बावजूद भी मानव रक्त का किसी भी प्रयोगशाला में उत्पादन नही किया जा सकता-राज्यपाल 03.07.19

July 04, 2019
चंडीगढ़, 03 जुलाई- विज्ञान की तरक्की के बावजूद भी मानव रक्त का किसी भी प्रयोगशाला में उत्पादन नही किया जा सकता। इसलिए विशेषकर युवाओं को रक्तदान के लिए आगे आना चाहिए, ताकि किसी भी जरूरतमंद व्यक्ति को जीवनदान मिल सके। यह बात हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने आज श्री चन्द्रशेखर आजाद चैरीटेबल ट्रस्ट और साॅन फाउंडेशन द्वारा पंचकूला के अग्रसेन भवन में आयोजित रक्तदान शिविर में बोलते हुए कही। उन्होनें रक्तदाताओें का बैज लगाकर उत्साहवर्धन किया। साथ ही संस्थाओं को दस लाख रूपए की राशि देने की भी घोषणा की।
उन्होनें कहा कि जीवन में प्रत्येक आदमी को रक्तदान करना चाहिए। इससे रक्तदान करने वाला व्यक्ति विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बचा रहता है साथ ही सामाजिक सेवा और पुण्य प्राप्ति का अवसर भी मिलता है। उन्होनंे रक्तदान को महादान बताते हुए कहा कि भारतीय संस्कृति में प्राचीन समय से ही दान की परंपरा रही है। उन्होनंे महर्षि दधीचि द्वारा किए गए हड्डियों के दान का उल्लेख करते हुए कहा कि भारतीय इतिहास दानी वीरों से भरा पड़ा है। महर्षि दधीचि जिन्होनें मानव कल्याण के लिए अपनी अस्थियों (हड्डियों) तक का दान कर दिया था। देवताओं के मुख से यह जानकर कि केवल दधीचि की अस्थियों से बनाए गए धनुष से ही असुरों का संहार किया जा सकता है, यह सुनकर महर्षि दधीचि ने अपना शरीर त्याग कर अस्थियों का दान कर दिया था। देवताओं ने महर्षि दधीचि की हड्डियों का धनुष बनाकर वृत्रासुर राक्षस का वध किया। 
श्री आर्य ने कहा कि रक्तदान जैसे सामाजिक कार्यों के लिए प्रत्येक वर्ग को आगे आना होगा तभी देश और समाज को मजबूती मिलेगी और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का नया भारत बनाने का सपना साकार होगा। मोदी सरकार ने देश में स्वच्छ भारत-स्वस्थ भारत, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ जैसे सामाजिक कार्यक्रमों को आगे बढ़ाया है और अब पौधारोपण के कार्यक्रम को गति दी है। इतना ही नही उन्होनें सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास का भी नारा दिया है। इस नारे का हम सबको अनुसरण कर देश और प्रदेश को उन्नति की राह पर लेकर जाना है। 
उन्होनें हरियाणा सरकार की मुक्तकंठ से प्रशंसा करते हुए कहा कि हरियाणा ने केन्द्र और राज्य की विकासकारी योजनाओं को युद्ध स्तर पर लागू किया है, जिससे प्रदेश कृषि, पशुधन, आॅटोमोबाइल इंडस्ट्रीज ;।नजवउवइपसम प्दकनेजतपमेद्ध , खेलों एवं सेना आदि में प्रथम स्थान हासिल किया है। 
इससे पूर्व श्री आर्य ने रक्तवीर अमित खंडेलवाल की मूर्ति के समक्ष पूष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। रक्तवीर अमित खंडेलवाल ने रक्तदान करने के लिए जाते हुए रास्ते में अपनी जान गवा दी थी। उन्होनें रक्तदाताओं का उत्साहवर्धन किया और संस्था की विजिटर बुक में रक्तदान शिविर के लिए शुभकामनाओं की टिप्पणी भी लिखी। इस मौके पर इंड़ियन रेड क्राॅस सोसाइटी द्वारा राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य को समृति चिन्ह भी दिया। उन्होनंे रक्तदाताओं को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम इंड़ियन रेड क्राॅस सोसाइटी हरियाणा शाखा के उपाध्यक्ष डा0 मुकेश अग्रवाल, हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद् के महासचिव श्री कृष्ण ढुल व स्वामी सूर्यानंद सरस्वती सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।
 
कैप्शन 1ः- हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य पंचकूला में आयोजित रक्तदान शिविर में रक्तदाताओं का उत्साहवर्धन करते हुए।
 
"
कैप्शन 2ः- हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य पंचकूला में आयोजित रक्तदान शिविर में रक्तदाताओं को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित करते हुए।