मां के बाद नर्स का काम श्रेष्ठ है-24.04.2018

April 24, 2018
चंडीगढ, 24 अप्रैल। मां के बाद नर्स का काम श्रेष्ठ है। वह मरीज की सेवा उसी भावना से करती है जिस भावना से मां अपने बच्चे का पालन करती है। उसकी देखभाल के बिना चिकित्सा सेवाएं अधूरी हैं। यह बात हरियाणा के राज्यपाल प्रो0 कप्तान सिंह सोलंकी ने आज रतन संस्थान समूह, मोहाली में ‘विश्व के परिप्रेक्ष्य में नर्सिंग का भविष्य’ विषय पर आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन के शुभारम्भ अवसर पर कही।
राज्यपाल ने कहा कि नर्स का काम ईश्वरीय कार्य है। वह अस्पताल की ओ0पी0डी0 से लेकर जनरल वार्ड, आप्रेशन थियेटर हर जगह दिन-रात सेवा करती हैं। कोई डाॅक्टर और अस्पताल आपके बिना चल नहीं सकता। मानवसेवा का काम तो और भी अनेक समाजसेवी करते हैं लेकिन नर्सिंग ऐसी सेवा है जो दक्ष व प्रशिक्षित हाथों से ही होती है। उन्होंने कहा कि आधुनिक काल में चिकित्सा विज्ञान में उन्नति होने के साथ ही नर्सिंग में भी बड़े परिवर्तन हो गए हैं। अब यह अनभिज्ञ व्यक्तियों द्वारा दयाप्रेरित सेवा मात्र नहीं रह गया है। इसलिए नर्सिंग को चिकित्सा क्षेत्र के नवीतम ज्ञान के साथ अपडेट रखना जरूरी है। उन्होंने सम्मेलन के आयोजन के लिए रतन संस्थान समूह की सराहना करते हुए कहा कि ऐसे सम्मेलन नर्सिंग के स्तर को विश्वस्तरीय करने मेें कारगर रहते हैं।
प्रो0 सोलंकी ने दीप जलाकर सम्मेलन का शुभारम्भ किया। उन्होंने सम्मेलन की स्मारिका का लोकापर्ण किया और सम्मेलन में भग लेने वाले प्रतिनिधियों व नर्सिंग कालेज के शिक्षकों को सम्मानित भी किया।
इससे पहले बाबा फरीद आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय, फरीदकोट के कुलपति प्रो0 राजबहादुर, गवर्नमेंट मेडिकल कालेज चण्डीगढ के निदेशक प्रो0 बी0एस0 चवन और अमेरिका में वेस्टर्न युनिवर्सिटी आॅफ हैल्थ साईंस, पोनोमा की डीन डाॅ0 मैरी लोफेज ने भी विचार रखे।
इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की कार्यकारिणी के सदस्य प्रेमचन्द गोयल रतन संस्थान समूह के अध्यक्ष एस0एल0 अग्रवाल, एस0जी0सी0 के अध्यक्ष बी0एल0 अग्रवाल जी, नर्सिग कालेज की प्राचार्या प्रो0 देवेन्द्र कौर आदि उपस्थित थे।
24042018
24042018
24042018
24042018
24042018