विश्व पर्यावरण दिवस

June 05, 2018

चण्डीगढ़, 5 जून।  विश्व पर्यावरण दिवस पर आज हरियाणा राजभवन में लेडी गवर्नर श्रीमती रानी सोलंकी ने पौधारोपण कर पर्यावरण बचाव का संदेश दिया। उन्होंने राजभवन परिसर में मौलसिरी, हरड़, बेहड़ा, आंवला, पिलखन, बरगद, जामुन, अमरूद आदि के पौधे लगाए और अपने हाथों लगाए सब पौधों की देखभाल का संकल्प व्यक्त किया।

इस अवसर पर लेडी गवर्नर ने कहा कि आज धरती पर जीवन को बचाने के लिए पेड़ लगाने के साथ जल, वायु और मिट्टी को नुकसान पहंुचाने वाली सब गतिविधियों को बंद करना आवश्यक है। उन्होंने सचेत किया कि जिस गति से पर्यावरण नष्ट हो रहा है उससे हमारी अगली पीढी को ही जीने के लिए कड़ा संघर्ष करना होगा। उन्होंने कहा कि आज दुनिया में ग्लोबल वॉर्मिग का संकट गहराता जा रहा है। पर्यावरण को बचाने के लिए विश्व स्तर पर सम्मेलन और बैठकों के दौर जारी हैं, लेकिन पर्यावरण को साफ-सुथरा रखने में जब तक हरेक इंसान इसमें अपना योगदान नहीं करेगा, यह अभियान सफल नहीं हो सकता। इसलिए हर आदमी को पर्यावरण की सुरक्षा के प्रति जागरूक होने की जरूरत है।

श्रीमती सोलंकी ने कहा कि वर्तमान समय में तेजी से बढ़ते हुए औद्योगीकरण, शहरीकरण, वाहनों में वृद्धि, ध्वनि प्रदूषण आदि पर्यावरण प्रदूषण को बढ़ा रहे हैं। इसलिए यह आवश्यक हो गया है कि मनुष्य को आर्थिक उन्नति के साथ-साथ पर्यावरण संरक्षण पर भी ध्यान देना चाहिए एवं आर्थिक उन्नति का उद्देश्य बिना पर्यावरण विनाश के विकास की धारणा होनी चाहिए जिससे विकास की गति भी न रुके और प्राकृतिक सन्तुलन को भी बनाए रखा जा सके। यह तभी सम्भव हो सकेगा जब हर मनुष्य पर्यावरण की महत्ता को समझे।

इस अवसर पर राज्यपाल की पुत्रवधू श्रीमती रचना सोलंकी, पौत्र रोहण सोलंकी, राजभवन में सत्कार विभाग के निदेशक जगननाथ बैंस आदि अधिकारियों व कर्मचारियों ने भी पौधारोपण किया और पर्यावरण बचाने का संकल्प लिया।

                              

''