August 02, 2021

चंडीगढ़ 1 अगस्त- मां का दूध शिशु के लिए सर्वोत्तम आहार है और इससे शिशु में रोग-रोधक शक्ति मजबूत होती है, इसलिए सभी मां अपने बच्चे को शुरुआती छह महीने तक स्तनपान अवश्य करवाएं। यह बात हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने विश्व स्तनपान सप्ताह के अवसर पर अपने संदेश में कही।

उन्होंने कहा कि पूरे विश्व में एक अगस्त से सात अगस्त तक विश्व स्तनपान सप्ताह मनाया जाता है।   हरियाणा में भी स्तनपान के लिए जागरुकता पैदा करने हेतु यह सप्ताह मनाया जा रहा है। प्रदेश में स्वास्थ्य विभाग, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन हरियाणा तथा महिला कल्याण विभाग द्वारा सप्ताह भर में स्तनपान से संबंधित जागरुकता को लेकर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।

उन्होंने आमजन से अपील की है वे सप्ताह भर चलने वाले स्तनपान जागरुकता कार्यक्रमों से जुड़े और समाज में स्तनपान के महत्व का प्रचार- प्रसार करें। उन्होंने कहा कि बच्चे राष्ट्र का भविष्य होते हैं। बच्चों के सर्वांगीण विकास की हम सब की जिम्मेवारी होती है।

राज्यपाल ने कहा कि स्तनपान का कोई दूसरा विकल्प नहीं है। मां का दूध शिशु को आगे जीवन में होने वाले गैर संचारी रोगों को कम करता है और बच्चे के मानसिक विकास को बढ़ावा देता है। उन्होंने कहा कि बच्चे स्वस्थ होंगे तो बड़े होकर स्वस्थ नागरिक बन कर राष्ट्र निर्माण में अपनी महत्ती भूमिका अदा कर पाएंगें।