हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने मंगलवार को राजभवन में अपने निवास पर ही सपरिवार भारत रत्न डाॅ0 भीम राव अम्बेडकर के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी

April 15, 2020

चण्डीगढ़, 14 अप्रैल - हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने मंगलवार को राजभवन में अपने निवास पर ही सपरिवार भारत रत्न डाॅ0 भीम राव अम्बेडकर के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।
उन्होनें बाबा साहेब भीम राव अम्बेडकर को सदी का महान समाज सुधारक बताया। बाबा साहेब ने भारत के संविधान में गरीब व दबे-कुचले लोगों के उत्थान की व्यवस्था की, जिससे गरीब लोगों के जीवन में नया उजाला हुआ है। इसलिए आज उन्हे गरीबों का मसीहा कहा जाता है।
श्री आर्य ने कहा कि बाबा साहेब ने जीवन पर्यन्त गरीबों के उत्थान के लिए संघर्ष किया। उन्होनें स्वतंत्रता से पहले व बाद में गरीब समाज के लिए लड़ाई लड़ी, इसके लिए उन्हे अनेकों बार विकट परिस्थितियों का सामना करते हुए अपमान का घूंट पीना पड़ा।
उन्होंने छुआ-छूत मिटाने के लिए अपना सर्वस्व न्यौच्छावर कर दिया। बाबा साहेब ने संविधान की रचना की जिसके आधार पर हिन्दुस्तान का प्रशासन चल रहा है। डा0 अम्बेडकर ने कहा था शिक्षित बनो, संगठित रहो और संघर्ष करो।
उन्होंने  यह सिद्ध कर दिया कि संघर्ष ,दृढ़ संकल्प, मेहनत और साहस से मनुष्य कठिन से कठिन लक्ष्य को प्राप्त कर सकता है। कठिनाईयों से भरा जीवन दर्शन आज वर्तमान युवा पीढ़ी के लिए प्रेरणा-दायक है। युवा पीढ़ी को चाहिए कि वे जीवन में निरन्तर अपने अधिकारों के लिए समाज कल्याण व राष्ट्र निर्माण के लिए संघर्ष करें, जिससे देश तरक्की की ओर अग्रसर होगा।
उन्होनें कहा कि आज देश ही नहीं पूरा विश्व कोरोना बीमारी के चलते कठिन दौर से गुजर रहा है, ऐसे में सभी धर्म, समुदाय तथा दलगत राजनीति से उपर उठ कर कोरोना के खिलाफ जंग में एक जुटता से खड़े हों। उन्होनें सर्व साधारण से आगामी तीन मई तक लाॅकडाउन और सोशल डिस्टैंसिग बनाए रखने की अपील की। इसके साथ-साथ इस अवसर पर उन्होनें प्रदेशवासियों के उत्तम स्वास्थ्य की  भी कामना की।
 कैप्शन- हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य मंगलवार को भारत रत्न डा0 भीम राव अम्बेडकर के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि देते हुए।