हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने कहा कि सांस्कृतिक व खेल गतिविधियों से जोड़ कर ही युवाओं को नशे जैसी आदतों से दूर रखा जा सकता है -26.11.2018

November 26, 2018

26 नंवबर 2018:- हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने कहा कि सांस्कृतिक व खेल गतिविधियों से जोड़ कर ही युवाओं को नशे जैसी आदतों से दूर रखा जा सकता है। 

श्री आर्य स्थानीय विकास नगर में बसंत गिरिजा श्री सोसाइटी एंव पूर्वांचल सभा द्वारा आयोजित पूर्वांचल सांस्कृतिक महोत्सव के उदघाटनोप्रांत दर्शकों को सम्बोधित कर रहे थे। राज्यपाल श्री आर्य ने कहा कि आज की युवा पीढ़ी को चाहिए कि वे शिक्षा के साथ-साथ अपनी अभिरूचि के साथ विभिन्न गतिविधियों से स्वयं को जोड़े। उन्होंने इस संास्कृतिक कार्यक्रम की प्रशंसा करते कहा कि इस प्रकार के कार्यक्रमों के माध्यम से मनोरंजन के साथ-साथ सामाजिक अभियानों के संदेश को भी प्रभावी रूप से आमजन तक पहुचाया जा सकता है। बेटी बचाओ-बेटी पढाओ, स्वच्छ भारत-स्वस्थ भारत, नशा मुक्ति जैसे अभियानों के बारे में लोगों को जागरूक किया जा सकता है। निसंदेह यह कार्यक्रम प्रभावी सिद्ध भी हो रहे है। 

इस कार्यक्रम में सोसाइटी की प्रधान श्रीमति रन्जु प्रसाद व श्री एस.एस. प्रसाद वरिष्ठ आई.ए.एस.अधिकारी भोजपूरी गीतों से दर्शकों का मनोरंजन किया और साथ ही सामाजिक कुरूतियों को उखाड़ने के लिए संदेश भी गीतों के माध्यम से दिया। सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरूआत श्री एस.एस. प्रसाद ने 

‘‘सजन रे झूठ मत बोल, खुदा के पास जाना है।‘‘ नामक गीत से की। 

इसके बाद तो भोजपूरी गायिका श्रीमति रन्जू प्रसाद ने एक के बाद एक भोजपूरी गीतों से समा बांध दिया। उनका पहला भोजपूरी गीत था ‘‘चटनियां हो संईया सिलवट पर पीसई‘‘ गीत पर तो दर्शकों से खुब वाह-वाई बटोरी। इसी तरह से बाल विवाह पर कटाक्ष करता हुआ भोजपूरी गीत ‘‘बाली उमरियां में बियाह के आई, संईया मिले लड़कैया मैं का करूं‘‘ इस गीत में बाल विवाह पर विशेष तंज था, जिसे दर्शकों ने दम साध कर सुना।

कार्यक्रम मंे शिवजी की बारात का दृश्य काफी मनमोहक और आध्यात्म से जोड़ने वाला था। शिव बारात के समय पर ‘‘पालकी सजाईके, भभूती लगाईके शिवजी बिहाने चले‘‘ नामक गीत पर तो दर्शक जमकर थिरके। यह कार्यक्रम काफी देर तक चला और भोजपूरी गीतों ने दर्शकों को बांधे रखा। इस प्रकार से इस सांस्कृतिक कार्यक्रम मनोरंजन के साथ-साथ आध्यात्म से जोड़ने का संदेश   व सामाजिक बुराईयों के खिलाफ एक संदेश भी दिया।

सांस्कृतिक समारोह में बसंत गिरिजा श्री सोसाइटी की तरफ से राज्यपाल श्री आर्य को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर पंचकूला के विधायक श्री ज्ञानचंद गुप्ता, राज्यपाल के सचिव श्री विजय सिंह दहिया, राज्यपाल कि पुत्र श्री कौशल किशोर, चण्डीगढ़ के महापौर श्री देवेश मोदगील व अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

कैप्शनः- हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य चण्डीगढ़ के विकास नगर में पूर्वांचल सांस्कृतिक समारोह का दीप प्रज्जवलन कर उदघाटन करते हुए।