हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव आर्य ने कहा कि श्री गुरू रविदास जी का चिंतन सर्वसमाज के लिए मानवता, समरसता व समानता का मार्ग प्रशस्त करता है-28.01.19

January 30, 2019

चण्डीगढ़, 28 जनवरीः हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव आर्य ने कहा कि श्री गुरू रविदास जी का चिंतन सर्वसमाज के लिए मानवता, समरसता व समानता का मार्ग प्रशस्त करता है। श्री आर्य दिल्ली में आयोजित श्री गुरू रविदास विश्व महापीठ के प्रथम राष्ट्रीय अधिवेशन में बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। 
उन्होने कहा कि संत किसी जाति या वर्ग विशेष के नहीं अपितु पूरे समाज के होते हैं। वर्तमान में संतों का दर्शन व चिंतन संपूर्ण समाज में अधिक से अधिक प्रचारित करने की आवश्यकता है। रविदास जी ऐसी शासन व्यवस्था चाहते थे जहां सबको भोजन मिले, कोई भूखा न सोये और छोटे-बड़े की भावना न हो। देश में आज जिस खाद्य सुरक्षा अधिनियम की बात हो रही है उसे तो रविदास जी ने 14वीं शताब्दी में ही पेश कर दिया था। इसके साथ-साथ रविदास जी जाति व्यवस्था के घोर विरोधी थे वे सबका विकास चाहते थे।
 राज्यपाल श्री आर्य ने कहा कि रविदास जी व डॉ. अम्बेडकर के बताए मार्ग पर चल कर देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भी           सबका साथ-सबका विकास के नारें को बुलंद करते हुए देश में समान विकास किया है। इसके साथ-साथ प्रधानमंत्री ने अमीर व गरीब वर्ग के बीच की खाई को पाटने के लिए कईं योजनाओं को क्रियान्वित किया है। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा स्वच्छ भारत- स्वस्थ भारत का नारा दिया गया है। महापीठ के राष्ट्रीय महामंत्री एवं सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के सदस्य सूरजभान कटारिया ने राज्यपाल का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार ने सरकार व अन्य संविधानिक संस्थाओं ने समाज के लोगों को प्रतिभागी बनाया है। राष्ट्रीय अधिवेशन में राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष श्री एल मरूगन उपस्थित रहे।श्री गुरू रविदास विश्व महापीठ के महापीठाश्वर श्री स्वर्णदासने परंपरागत रूप से आरती से शुभारंभ किया व प्रवचन दिए। पूर्व सांसद श्रीमती अनिता आर्य भी उपस्थित रही।
राष्ट्रीय अधिवेशन को विश्व हिंदू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष श्री आलोक ,श्री गुरू रविदास विश्व महापीठ के श्री अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष दुष्यन्त गौतम,अध्यक्ष रविदासाचार्य श्री सुरेश राठौर, उपाध्यक्ष श्री लाल सिंह आर्य,महामंत्री श्री राजेश बग्गा, दिल्ली प्रदेश ईकाइ के अध्यक्ष श्री सुरजीत कुमार ने संबोधित किया। राष्ट्रीय अधिवेशन में हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के कुलपति श्री आत्माराम परमार भी मौजूद रहे।

फोटो कैप्शन 1-’ नई दिल्ली में श्री गुरू रविदास विश्व महापीठ द्वारा आयोजित प्रथम राष्ट्रीय अधिवेशन को संबोधित करते हुए हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव आर्य।