गरीब वर्गों के छात्रों को भी गुणवत्ता की शिक्षा उपलब्ध हो ताकि ये छात्र भी दुसरे वर्गों के छात्रों की प्रतिस्पर्धा में उनके बराबर खड़े हो -राज्यपाल 27.12.18

December 31, 2018

चण्डीगढ़ 27, दिसंबर-  हरियाणा के सामाजिक न्याय एंव अधिकारिता राज्यमंत्री श्री कृष्ण कुमार बेदी बृहस्पतिवार को हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य से मुलाकात कर अपने विभाग की गतिविधियांे व योजनाओं की जानकारी दी। इस अवसर पर राज्यपाल श्री आर्य ने कहा कि गरीब वर्गों के छात्रों को भी गुणवत्ता की शिक्षा उपलब्ध हो ताकि ये छात्र भी दुसरे वर्गों के छात्रों की प्रतिस्पर्धा में उनके बराबर खड़े हो और अपनी शिक्षा पूरी कर राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान दे सके। 

उन्होने कहा कि शिक्षा ही गरीब वर्ग के सामाजिक और आर्थिक जीवन में सुधार ला सकती है। इसी उद्देश्य से केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा गरीब वर्ग के छात्रों को बेहतर शिक्षा उपलब्ध करवाने के लिए कई महत्वकांक्षी योजनाएं शुरू की गई है। उन्होने कहा कि इन योजनाओं का लाभ प्रत्येक छात्र को मिले, यह सुनिश्चित करना विभागीय अधिकारियों की जिम्मेवारी है। वे इस जिम्मेवारी को गंभीरता से निभाएं, जिससे छात्रों को पूरा लाभ हो। 

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री श्री कृष्ण कुमार बेदी ने राज्यपाल श्री आर्य कोे अंबाला जिले के सिरसगढ़ मंे बनाए जाने वाले    डा0 बी.आर.अम्बेडकर छात्रावास की आधाशिला रखने हेतू मुख्य अतिथि के रूप में निमंत्रण भी दिया। छात्रावास की आधाशिला आगामी 16 जनवरी को रखी जाएगी, जिसमें राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य मुख्य अतिथि होगें। उन्होने बताया कि राज्य सरकार गरीब वर्ग के छात्रों को उनकी शिक्षा निर्बाध रूप से पूरी करवाने के लिए कृतसंकल्प है। इसी उद्देश्य से शिक्षा के क्षेत्र में कई महत्वकांक्षी योजनाए शुरू की गई है जिनका छात्रों को लाभ भी मिल रहा है और इन योजनाओं के सकारात्मक परिणाम सामने आने लगे है।

श्री बेदी ने बताया कि अनुसूचित जाति, पिछड़ा वर्ग व गरीबी रेखा से नीचे जीवन बसर कर रहे परिवारों के बच्चों के लिए छात्रावास सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए हरियाणा प्रदेश के दस जिलों में डा0 बी.आर.अम्बेडकर छात्रावास के निर्माण का निर्णय लिया है। प्रत्येक जिले में 100-100 विद्यार्थियों के रहने के लिए छात्रावासों का निर्माण किया जा रहा है। युवा पीढ़ी में विद्यार्थी जीवन से ही समरसता का भाव जागृत करने के उद्देश्य से इन छात्रावासों में 60 प्रतिशत अनुसचित जाति के छात्रों, 25 प्रतिशत पिछडा वर्ग और 15 प्रतिशत गरीबी रेखा के नीचे जीवन बसर कर रहे छात्रों को रहने की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। 

उन्होने बताया कि डा0 बी.आर.अम्बेडकर मेधावी छात्र योजना के तहत अनुसूचित जाति एवं पिछड़े वर्ग के छात्रों में प्रतिस्पर्धा और उत्कृष्टता की भावना को प्रोत्साहित करने के लिए मैट्रिकोत्तर स्तर तक कक्षावार आठ से बारह हजार रूपए की वार्षिक छात्रवृति दी जा रही है। इसके साथ-साथ पिछड़ा वर्ग के छात्रों के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृति योजना के अंतर्गत प्रति मास 750 रूपए तक की छात्रवृति प्रदान की जाती है।

श्री बेदी के अनुसार अनुसूचित जाति, विमुक्त जाति एवं टपरीवास जाति के व्यक्तियों का सामाजिक एवं आर्थिक स्तर ऊचां उठाने के लिए अनेेक योजनाएं संचालित की जा रही है। जिसमें डा0 बी.आर.अम्बेडकर आवास नवीनीकरण योजना, मुख्यमंत्री सामाजिक समरसता अंतरजातिय विवाह शगुन योजना, मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना शामिल है।

उन्होने कहा कि राज्य सरकार गरीब लोगों के लिए चलाई जाने वाली योजनाओं को हर जरूरतमंद व्यक्ति तक पहुचाने का सफल प्रयास कर रही है। उन्होने विभाग के अधिकारियों को निर्देश भी दिए है कि सरकार की योजनाओं से किसी भी पात्र व्यक्ति को वंचित न रहने दे।

 

कैप्शनः- हरियाणा के सामाजिक न्याय एंव अधिकारिता राज्यमंत्री, श्री कृष्ण कुमार बेदी ने बृहस्पतिवार को हरियाणा के राज्यपाल, श्री सत्यदेव नारायण आर्य से मुलाकात कर विभागीय योजनाओं की जानकारी दी।