देश के भावी कर्णधार बच्चों को विभिन्न क्षेत्रों में प्रशिक्षण देने से उनमे देश-प्रेम व राष्ट्रभक्ति की भावना जागृत होती है जिससे देश मजबूत होता है-राज्यपाल 09.07.19

July 16, 2019
चण्डीगढ़, 9 जुलाईः-  देश के भावी कर्णधार बच्चों को विभिन्न क्षेत्रों में प्रशिक्षण देने से उनमे देश-प्रेम व राष्ट्रभक्ति की भावना जागृत होती है जिससे देश मजबूत होता है। यह बात हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने जम्मु-कश्मीर के लेह जिले से आए 20 लद्दाखी बच्चों से बातचीत करते हुए कही। 20 बच्चों का यह ग्रुप भारतीय सेना के आॅपरेशन सद्भावना के तहत ‘‘कैपेस्टी बिल्डिंग दौरे‘‘ में राजभवन पहुंचे। बच्चों के ग्रुप के साथ भारतीय सेना की डोगरा रेजीमैंट के पाँच अधिकारी भी साथ थे, जिनमें लेफ्टीनैंट कर्नल श्री अशोक भण्डारी, सूबेदार जगीर सिंह, हवलदार धमैंद्र कुमार, लाॅस-नायक रजेन्द्र कुमार व सिपाही पंकज शामिल थे।
राज्यपाल श्री आर्य ने इन सभी स्कूली बच्चों को आशीर्वाद देते हुए कहा कि देश के इन भावी नागरिकों को आगे बढ़नें के अवसर उपलब्ध करवाना सरकार के साथ-साथ हम सबकी जिम्मेवारी है। केन्द्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाएं है जिनके तहत बच्चों को विशेष प्रशिक्षण व टूअर आदि की सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाती है। उन्होनें भारतीय सेना के इस आॅपरेशन सद्भावना की प्रशंसा करते हुए कहा कि बच्चों के इस प्रकार की दौरे करवाने से उनका सर्वागीण विकास होगा और ये बच्चे अपने जीवन में आने वाली चुनोतियों का मजबूती से सामना कर पाएगें। बच्चों को इस प्रकार के अनुभवों से देश आगे बढ़ेगा। 
इससे पूर्व राज्यपाल के सचिव श्री विजय सिंह दहिया ने ग्रुप के सभी बच्चों, सेना के अधिकारियों और बच्चों के साथ आए उनके अध्यापकों का स्वागत किया और कहा कि उन्हे बच्चों से मिलकर अत्यन्त खुशी हुई है कि सभी बच्चे देश के आखिरी छोर से हरियाणा में आए हैं। उन्होनें कहा कि भारतीय सेना द्वारा इस प्रकार के दौरों से बच्चों में राष्ट्र-ऐकता की भावना जागृत होगी जो ता-उम्र काम आएगी। 
सेना के अधिकारी श्री जगीर सिंह ने भारतीय सेना के आॅपरेशन सद्भावना के बारे में विस्तार से जानकारी दी और बताया कि इस आॅपरेशन के तहत भारत के दूर-दराज व दुर्गम क्षेत्रों के 7वीं से 12वीं तक के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों को देश के विभिन्न राज्यों का दौरा करवाया जाता है। इस दौरे से देश की सभ्यता व संस्कृति के बारे में बखुबी जान पाते है। उन्होनें बताया कि इस दौरे में आए 20 बच्चे भारत-चीन सीमा पर लाईन आॅफ एक्च्युल कन्ट्रोल (LAC ) के क्षेत्र से आए है। उनका यह दौरा आगामी 16 जुलाई तक चलेगा। चण्डीगढ़ के बाद बच्चों का यह गु्रप देहरादून के लिए रवाना होगा। 
हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने इन बच्चों को राजभवन की तरफ से समृति चिन्ह भी दिया। इसी प्रकार से बच्चों के ग्रुप के साथ आए सेना के अधिकारियों ने भी भारतीय सेना की तरफ से राज्यपाल हरियाणा को समृति चिन्ह के रूप में भेंट प्रदान की।
 
कैप्शन 1ः- हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य भारतीय सेना के आॅपरेशन सद्भावना कार्यक्रम के तहत ‘‘कैपेस्टी बिल्डिंग मोटिवेशन दौरे‘‘ पर आए लद्दाखी बच्चों को समृति चिन्ह प्रदान करते हएु।